Best Swachh Bharat Poem by श्री विकास बंसल (फ़रीदाबाद)

posted in: Swachh Bharat Updates | 0

साबरमती के संत ने जो देखा था सपना
पूरा करना होगा मानना होगा उसे अपना
जो कर न सका कोई वो हम काम करे
मिलकर स्वच्छ भारत का निर्माण करे
दुसरों से नहीं पहले ख़ुद से शुरुवात होगी
होगा स्वच्छ देश तो कुछ और ही बात होगी
रखते तन स्वच्छ वैसे ही देश को स्वच्छ रखना होगा
तभी होगी कुछ बात, बापू का पूरा सपना होगा
करके ये काम ख़ुद ही ख़ुद पर अभिमान करे
जो कर न सका कोई वो हम काम करे
मिलकर स्वच्छ भारत का निर्माण करे
चलो छोड़ दें ऊंच नींच और भेद भाव
हाथ से मिले हाथ, स्वच्छ हो शहर और गाँव
खुले में शौच का हम बहिष्ठकार करें
भारत की भूमी को रखें स्वच्छ धरती माँ से प्यार करें
होगा स्वच्छ भारत तो सभी रोग दूर होंगें
पुरे विश्व में हम स्वच्छ भारत के नाम से मशहूर होंगें
ख़ुद के लिये करते देश के लिये कुछ श्रमदान करें
करके ये काम ख़ुद ही ख़ुद पर अभिमान करे
जो कर न सका कोई वो हम काम करे
मिलकर स्वच्छ भारत का निर्माण करे

विकास बंसल
फ़रीदाबाद

1 2